उनको अच्छे से आता है 'रूठों' को मनाना! MULAYAM SINGH YADAV 83rd BIRTHDAY

 

MULAYAM SINGH YADAV  83rd BIRTHDAY  (PIC; dailyexcelsior )

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में जब भी हम फुर्सत के दो पल बिताना चाहते हैं, तो हमें सबसे पहले परिवार की याद आती है। ऐसा हो भी क्यों ना, क्योंकि परिवार ही वह जगह है जहां हम जिंदगी की सारी परेशानियां भूल जाते हैं। जब तक हम परिवार के बीच रहते हैं, तब तक अलग ही दुनिया में आनंद लेते हैं। 

आज हम ऐसा ही एक मुद्दा आपके सामने लेकर आए हैं, जो कि उत्तर प्रदेश के राजनीतिक घराने का सबसे बड़ा परिवार माना जाता है। इस आज इस परिवार के मुखिया मुलायम सिंह यादव का 83 वां जन्मदिवस है, और जन्मदिवस के अलावा भी आज का यह कार्यक्रम इसलिए भी चर्चा में बना हुआ है, क्योंकि काफी सालों से नाराज मुलायम सिंह के छोटे भाई शिवपाल यादव को विशेष तौर पर इस जन्म दिवस कार्यक्रम में निमंत्रित किया गया है। 

राजनीतिक गलियारों में इस बात की जोर शोर से चर्चा है, कि मुलायम सिंह के जन्मदिन के बहाने एक दूसरे से नाराज चल रहे अखिलेश यादव और शिवपाल यादव को करीब लाने का का प्रयास किया जा रहा है। परिवार की यही तो सबसे बड़ी खासियत होती है, कि समय-समय पर परिवार से असंतुष्ट, नाराज और अलग पड़े लोगों को किसी उत्सव या खास मौके पर खास तौर से एक बार फिर उन्हें परिवार में जोड़ने की पूरी कवायद की जाती है।

जहाँ तक मुलायम सिंह यादव की बात है, तो राजनीति के धुरंधर इस राजनीतिज्ञ के बारे में यह काफी प्रचलित है कि इन्हें रूठे हुए लोगों को बेहद अच्छे तरीके से मनाने का हुनर आता है। यही वजह है कि मुलायम सिंह यादव के प्रतिद्वंदी भी उनकी बुराई करने से बचते नजर आते हैं। 

बता दें कि मुलायम सिंह यादव 5 बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जिसमें 3 बार वो लगातार मुख्यमंत्री पद पर सुशोभित हो चुके हैं। इतना ही नहीं मुलायम सिंह यादव एक बार केंद्र सरकार में रक्षा मंत्री के पद पर भी रह चुके हैं। एक तरफ जहां 2022 में उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, तो वहीँ चाचा भतीजे की जोड़ी के साथ आने के बाद उत्तर प्रदेश के राजनीतिक गलियारे में हलचल मचना स्वाभाविक है। 

मुलायम सिंह यादव के जन्म दिवस के अवसर पर रूठे हुए भाई को साथ लाने के इस प्रयास पर आप क्या सोचते हैं? कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। 

Article Title: उनको अच्छे से आता है 'रूठों' को मनाना! MULAYAM SINGH  83rd BIRTHDAY 

Comments

Popular posts from this blog

क्या आप भी बच्चे को कम उम्र में स्कूल भेजने के पक्ष में हैं! तो जान लें ये सच्चाई

"युगे युगे राम": 'मिथिलेश दृष्टि' (पुस्तक - समीक्षा)

उत्सव धर्मिता 'परिवार' का मूल है